Navratri 2022 कब से शुरू है, जानें कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त और पुजा विधिः

नवरात्रि पर्व हिंदुओं के लिए एक विशेष महत्व रखता है। इस पवित्र पर्व में नौ दिनों तक मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। वेदों और पुराणों के अनुसार, मां दुर्गा को शक्ति का रूप माना जाता है। आइए जानते हैं इस नवरात्रि पर्व के बारे में. नवरात्रि व्रत का महत्व नवरात्रि … Read more

आत्मा क्या है? क्या सच में आत्मा होती है ? जानिए- आत्मा का रहस्य

Aatma kya hai | what is soul in hindi पृथ्वी पर जब से हमारी चेतना का विकास हुआ। तभी से हमारे अंदर अपने अस्तित्व को लेकर सवाल उठने शुरू हो गए थे। कि हम कौन हैं और कहां से आए हैं? हमारे अंदर मौजूद जीवन क्या है? हमारे अंदर ऐसा क्या है जिसके निकलते ही … Read more

जीवन और मृत्यु क्या है, जानें जीवन और मृत्यु का अलौकिक रहस्य

मृत्यु एक ऐसा रहस्य है। जिसको सदियों से सुलझाने की कोशिश की जा रही है। परंतु आज इसे सुलझाया नहीं जा सका है। इस विषय अभी तक हजारों किताबें लिखी जा चुकी है परंतु आज भी कई सवाल ज्यों के त्यों बने हुए हैं। जैसे- जीवन और मृत्यु क्या है? हमारा जन्म कैसे होता है … Read more

Human body में छुपी है ऐसी अद्भुत शक्तियां, जो हैं देवताओं से भी ज्यादा दिव्य और अलौकिक

manav sharir ki adbhut shaktiyan, amazing superpowers of humans
power and abilities of human’s

भारत एक ऐसा देश है। जहां केवल चमत्कार को ही नमस्कार किया जाता है। यहां जब भी किसी चमत्कार की बात होती है तो उसका क्रेडिट देवताओं को दिया जाता है। हालांकि इसका कोई प्रमाणिक साक्ष्य नहीं मिलता कि उन चमत्कारों के पीछे किसी दैवीय शक्ति का ही हाथ होता है। चुंकि हमारे शास्त्रों और पुराणों में भी यहीं बताया गया है कि देवी-देवता ही हमारे सर्वोसर्वा है। इसलिए हमलोग हमेशा देवताओं की ही जय-जयकार करते रहते हैं। लेकिन अगर हम आपसे कहे कि आपके शरीर के अंदर देवताओं से ज्यादा अद्भुत दिव्य और चमत्कारी शक्तियां मौजूद हैं तो आप शायद यकीन नहीं करेंगे। क्योंकि जब से हमारी आंखें खुली है। हम बाहर ही देखते आए हैं। हमारे परिवार और समाज ने भी हमें केवल बाह्य जगत के बारे में बताया है। शायद इसलिए हमारा ध्यान कभी अपने भीतर कभी गया ही नहीं है। परन्तु इस आर्टिकल में हम मानव शरीर के भीतर छिपी ऐसी दिव्य और अलौकिक शक्तियों के बारे में बतायेंगे। जिसको सुनने के आपको हनुमानजी की तरह अपनी भूली हुई शक्तियां याद आ जायेगी। और आपको अपने मनुष्य होने पर गर्व होगा।

मनुष्य की शक्तियां – manusya ke andur kitni shakti hoti hai

आपने सुना होगा कि देवता भी मनुष्य जन्म लेने के तरसते हैं। जानते हैं क्यों? क्योंकि मनुष्य को जितनी शक्तियां, जितने अधिकार मिले हैं उतने देवताओं को भी नहीं मिलें हैं। मनुष्य को इतनी शक्तियां मिली है कि वह जो चाहे वह कर सकता है। वह चाहे तो स्वयं का विकास कर सकता है या चाहे तो विनाश कर सकता है। मनुष्य की इतने अधिकार मिले हैं कि वह जो चाहे बन सकता है। चाहे तो ईश्वर हो सकता है या चाहे तो शैतान हो सकता है। मनुष्य की शक्तियां और उसके विकास की संभावनाएं अनंत है किंतु देवताओं की शक्तियां सिमित है। इसलिए देवता भी मनुष्य योनि में जन्म लेने के लिए तरसते हैं। हमारे शास्त्रों के अनुसार इस ब्रह्माण्ड में कुल 33 करोड़ देवी-देवता हैं। हमारे मुख्य देवताओं में अग्निदेव, पवनदेव, वरूण देव, सुर्य देव और इन्द्र इत्यादि का‌ नाम आता है। जो सभी देवताओं के राजा हैं।

लेकिन आपको याद होगा कि ये इंन्द्र 33 करोड़ देवी-देवताओं के साथ मिलकर भी बालि, रावण, मेघनाथ, महिषासुर, और हिरण्यकशिपु इत्यादि राक्षसों को नहीं हरा पाते थे। तब भगवान विष्णु को मनुष्य जन्म ले कर इन राक्षसों का वध करना पड़ता था। इससे यह साबित होता है कि मनुष्य शरीर में इन 33 करोड़ देवी-देवताओं से भी ज्यादा शक्तियां छिपी हुई है। आपने ये भी सुना होगा कि पृथ्वी पर जब भी कोई मनुष्य कठोर तपस्या या साधना करता है तो देवराज इन्द्र का सिंघासन डोलने लगता है। वे डर कर उसकी तपस्या भंग करने की कोशिश करने लगते हैं। इसका यह अर्थ हो सकता है कि शायद इंन्द्र जानते हैं कि मनुष्य के भीतर हमसे भी ज्यादा चमत्कारी शक्तियां छिपी हुई है। और शायद उन्हें हमेशा इस बात का सताता रहता है कि कहीं मनुष्य ने अपने अंदर की शक्तियों को जागृत कर लिया तो यह देवताओं को हरा सकता है। इसके बारे में तो हमने एक कहानी भी पढ़ी है। जिसे हम यहां संक्षेप में सुनाना चाहते हैं।

Read more

god is exist or not in hindi | ईश्वर है या नहीं, जानिए पुरी सच्चाई

ishwar hai ya nahin- god is exist or not in hindi ईश्वर अल्लाह गाॅड, भगवान या हम जिसे परमात्मा इत्यादि नामों से पुकारते हैं। वह कौन है‌, कैसा है और कहां रहता है। क्या ईश्वर है भी या नहीं। इस विषय पर आपने इंटरनेट पर कई आर्टिकल्स पढ़ें होंगे। कई सारे टीवी सीरियल देखे होंगे … Read more

होली मनाने से पहले होली का सही अर्थ जान लिजिए- Holi 2021

 होली का अर्थ क्या होता है|होली 2021 पर विशेष लेख     holi 2021 special होली का उत्सव करीब आ गया है। भारतीय कैलेंडर के अनुसार इसी हफ्ते 29 मार्च 2021 दिन सोमवार को holi 2021 मनाया जाना है। इधर कोरोना का दूसरा लहर भी बढता ही जा रहा है। मानो जैसे पिछले वर्ष की … Read more

महिला सशक्तीकरण का असली सच- international women’s day 2021

 अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर विशेष लेख| international women’s day message in hindi happy women’s day 2021 अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस प्रति वर्ष 8 मार्च को एक उत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस दिन नारी जाति को उनके निष्ठा, त्याग, समर्पण और परिवार-समाज के उन्नति में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए सम्मान, प्रशंसा, प्यार और … Read more

Chhath Puja 2022: नहाय खाय,खरना,पारणा सहित छठ पूजा की सभी जानकारी

 छठ पूजा का महत्व| छठ पूजा क्यों मनाया जाता है ? Chhath puja छठ पूजा  भारत के पूर्वोत्तर राज्यों बिहार , झारखंड , और उत्तर प्रदेश के उत्तरी क्षेत्रों में मनाये जाने वाला सबसे बड़ा लोक पर्व है । भारत के साथ-साथ यह पर्व मलेशिया , सूरीनाम, मारिशस और नेपाल के आंक्षिक क्षेत्रों में भी मनाया जाता है … Read more

Diwali 2022,इस दिवाली में रखें इन 5 बातों का विशेष ध्यान

दिवाली कैसे मनाएं | दिवाली में रखें इन 5 खास बातों का ध्यान। Happy Diwali    दिपावली  का त्यौहार धार्मिक और समाजिक दृष्टि से दुनिया का सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार है। कार्तिक अमावस्या के घोर अंधेरे में दीप जलाकर हमलोग अज्ञान के अंधकार को मिटा कर ज्ञान के प्रकाश को प्रज्ज्वलित करते है। दिवाली का त्यौहार … Read more

Diwali 2022 date and time -दिवाली पर निबंध

दिवाली कब है |Diwali 2022 date and time Diwali celebration दिपावली  का त्यौहार हर वर्ष कार्तिक माह केअमावस्या के दिन मनाया जाता है। हर वर्ष की भाँति इस वर्ष भी दिवाली का त्यौहार 24 अक्टूबर दिन रविवार को बड़े ही  हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा।इस पर्व में दीपक जलाने की परंपरा है, इसलिए इसे दीपावली भी … Read more

dhanteras 2022 date and time|धनतेरस कब और क्यों मनाया जाता है.

 धनतेरस कब है | dhanteras 2022 date and time Dhanteras puja धनतेरस का महत्व धनतेरस  का त्यौहार हिन्दूओं के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है । धनतेरस को कही-कही छोटी दिवाली भी कहा जाता जाता है क्योंकि यह पर्व दिवाली से ठीक दो दिन पहले मनाया जाता है । धनतेरस के दिन विशेष रूप से भगवान धन्वंतरि और धन … Read more

Karwa chauth brat katha in hindi| करवा चौथ व्रत कथा

करवा चौथ व्रत कथा | karva chauth vrat katha in hindi Karva chauth vrat करवा चौथ का व्रत हमारे हिन्दू धर्म की परंपरा के अनुसार सुहागन महिलाएँ बड़ी श्रद्धा और विश्वास के साथ करती है परंतु कई बार उनके मन में ये ख्याल आता है कि करवा चौथ व्रत क्यों मनाया जाता है, इसकी शुरुआत … Read more